सबरीमाला पर घमासानः शाह बोले- हिंदू मंदिरों के खिलाफ साजिश, विजयन का पलटवार

121

सबरीमाला विवाद को लेकर केरल सरकार पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि आज केरल में धार्मिक आस्था और राज्य सरकार की क्रूरता के बीच संघर्ष चल रहा है. बीजेपी, आरएसएस समेत अन्य संगठनों के 2,000 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि बीजेपी सबरीमाला के श्रद्धालुओं के साथ मजबूती से खड़ी है.

सबरीमाला मंदिर में सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे को लेकर राजनीतिक घमासान शुरू हो गया है. शनिवार को केरल केकन्नूर में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सबरीवाला मंदिर विवाद को लेकर राज्य की लेफ्ट सरकार पर जमकर निशाना साधा.

अमित शाह ने केरल सीपीएम सरकार पर सबरीमाला मंदिर को नष्ट करने का आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा कि आज केरल में धार्मिक आस्था और राज्य सरकार की क्रूरता के बीच संघर्ष चल रहा है. बीजेपी, आरएसएस समेत अन्य संगठनों के 2,000 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. भगवान अयप्पा के श्रद्धालुओं का दमन करके केरल सरकार सबरीमाला मंदिर को नष्ट करना चाहती है. हालांकि बीजेपी इस मसले पर सबरीमाला के श्रद्धालुओं के साथ पत्थर की तरह मजबूती से खड़ी है.

अमित शाह ने कहा कि जो लोग अदालत के फैसले के नाम पर हिंसा को भड़काना चाहते हैं, उनको बताना चाहता हूं कि यहां पर कई ऐसे मंदिर हैं, जिनके अपने अलग-अलग नियम कानून हैं. इस दौरान अमित शाह ने केरल के मुख्यमंत्री को सबरीमाला मंदिर के श्रद्धालुओं और प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने पर चेतावनी भी दी.

अमित शाह ने कहा, ‘मैं केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को चेतावनी देने आया हूं कि अगर आपने दमन का कुचक्र बंद नहीं किया किया, तो बीजेपी का कार्यकर्ता आपके सरकार की ईंट से ईंट बजा देगा. आपकी सरकार ज्यादा दिन नहीं चल सकेगी.’

वहीं, अमित शाह के हमले पर केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि सबरीमाला मंदिर को लेकर अमित शाह ने कन्नूर की रैली में जो बयान दिया है, वो संविधान और कानून के खिलाफ है. उनके एजेंडे का मकसद साफ है. उनके एजेंडे में मौलिक अधिकारों की गारंटी नहीं हैं. उनका बयान आरएसएस और संघ परिवार के एजेंडे को दर्शाता है.

सीएम पिनाराई विजयन ने अमित शाह पर केरल सरकार को गिराने की धमकी देने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार को गिराने की धमकी देने वाले अमित शाह को याद रखना चाहिए कि यह सरकार बीजेपी की दया पर सत्ता पर नहीं आई है. यह सरकार जनादेश हासिल करके सत्ता पर आई है. अमित शाह का मैसेज जनादेश को नुकसान पहुंचाने वाला है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here