हारने के बाद कोहली को याद आए जाधव और पंड्या, जानें क्यों?

41

मौजूदा वनडे सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है. गुवाहाटी में खेले गए पहले मैच में भारत ने जीत हासिल की थी, जबकि विशाखापत्तनम में खेला गया दूसरा मैच टाई रहा था.

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली तीसरे वनडे मैच में हार का ठीकरा बल्लेबाजों के सिर फोड़ते हुए कहा है कि साझेदारियां न होने के कारण टीम को हार मिली. वेस्टइंडीज ने भारत के सामने 284 रनों का लक्ष्य रखा था. जवाब में भारतीय टीम 47.4 ओवरों में 240 रनों पर ही ढेर हो गई. कोहली ने 107 रनों की पारी खेली बाकी कोई और बल्लेबाज विकेट पर टिक नहीं सका.

मैच के बाद कोहली ने कहा, ‘हमने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन पहले 35 ओवरों में विकेट में कुछ नहीं था. दूसरे हाफ में यह मुश्किल हो गई थी. हमें 250-260 तक वेस्टइंडीज को रोकना चाहिए था, लेकिन फिर भी गेंदबाजी अच्छी थी. आखिरी 10 ओवरों में हम थोड़े ज्यादा रन दे गए. हम साझेदारियां नहीं कर सके. वेस्टइंडीज की टीम जीत की हकदार थी.’

कोहली ने कहा कि टीम अपनी रणनीति को ठीक से लागू नहीं कर पाई. कोहली ने टीम संयोजन पर कहा कि केदार जाधव और हार्दिक पंड्या के रहने से टीम के पास एक गेंदबाजी विकल्प होता है.

बकौल कोहली, ‘जब हार्दिक और केदार दोनों खेलते हैं, तो हमें एक अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प मिलता है. केदार अगले मैच से हमारे साथ जुड़ेंगे तो हमें संतुलन प्रदान करेंगे. हमें एक गेंदबाज बाहर करना होगा, लेकिन हमारे पास छह गेंदबाजों के विकल्प मौजूद हैं.’

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘मैं अपनी बल्लेबाजी के बारे में बात नहीं करना चाहता. हमें उन चीजों पर ध्यान देना चाहिए, जो हमने आज अच्छे से नहीं कीं. इस जीत के साथ ही पांच मैचों की वनडे सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here